अशोक गहलोत को बड़ा झटका, वॉइस सैंपल मामले में सीएम पर भड़के केंद्रीय मंत्री शेखावत, जानें

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से वॉइस सैंपल लेने के मामले में एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. अपर सत्र न्यायाधीश ने भी वॉइस सैंपल लेने की अपील को खारिज कर दिया है. इस पर गजेंद्र सिंह शेखावत ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा है कि गहलोत सरकार न्यायालय को यंत्र बनाकर उसका दुरुपयोग करना चाहती है. करीब 1 साल भर पहले लोअर कोर्ट ने वॉइस सैंपल लेने के प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया था. अब एक बार फिर साल भर बाद कांग्रेस ने दूसरे कोर्ट में वॉइस सैंपल के लिए अपील की है वहां भी कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ी है.

गौरतलब है कि गहलोत सरकार की बाड़ाबंदी के दौरान एक ऑडियो वायरल हुआ था जिसमें विधायकों की खरीद-फरोख्त पर चर्चा सामने आई थी. ऑडियो के बारे में यह कहा गया था कि वह गजेंद्र सिंह शेखावत की आवाज है. उसी मामले में कांग्रेस की ओर से कोर्ट में गजेंद्र सिंह शेखावत के वॉयस सैंपल के लिए प्रार्थना पत्र पेश किया गया था. करीब एक वर्ष पहले वॉइस सैंपल का प्रार्थना पत्र निचले कोर्ट ने खारिज कर दिया था. अब फिर से अपर सत्र न्यायालय ने भी इसे खारिज कर दिया है. इसी पर गजेंद्र सिंह शेखावत ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर जमकर निशाना साधा है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक दौरे पर सचिन पायलट, राजस्थान के मुद्दे को लेकर फिर कही ये बड़ी बात, जानें

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पेयजल किल्लत पर कलेक्टर को फोन पर लगाई फटकार
दरअसल, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत अपने एक दिवसीय दौरे के लिए बाड़मेर आ रहे थे. इसी दौरान बालोतरा के पास बीजेपी के पदाधिकारियों ने बालोतरा, सिवाना में पानी की समस्या को लेकर अवगत करवाया तो गजेंद्र सिंह शेखावत एक्शन मूड में दिखे. उन्होंने तुरंत बाड़मेर के जिला कलेक्टर को फोन घुमाया और पेयजल किल्लत के मामले में तत्काल कार्रवाई कर रिपोर्ट से अवगत करवाने के लिए कह दिया. उसके बाद क्या था, बाड़मेर प्रशासन में हड़कंप मच गया. कलेक्टर ने तत्काल बालोतरा और रिफाइनरी के अधिकारियों को रिफाइनरी में अवैध रूप से जा रहे पानी के कनेक्शन पर तत्काल कार्रवाई करने को कहा. इसके बाद मौके से अवैध कनेक्शनों को हटाने का काम शुरू किया गया.

गौरतलब है कि पिछले कई महीनों से बालोतरा और सिवाना के लोग पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे थे. बीजेपी ने इसको लेकर आंदोलन भी किया था लेकिन बीजेपी नेताओं की अधिकारी सुन नहीं रहे थे. ऐसे में गजेंद्र सिंह शेखावत ने कलेक्टर को फटकार लगाई और आखिरकार कलेक्टर ने तत्काल बालोतरा, सिवाना के लोगों को राहत देने के लिए अवैध रूप से जा रहे पानी के कनेक्शन पर कार्रवाई शुरू कर दी है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: अब शादी करने के लिए दूल्हे का क्लीन शेव होना जरूरी!, जानें इस अनोखे फरमान के पीछे की वजह

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT