डॉ. रघु शर्मा का बयानः पार्टी को सत्ता में करनी है वापसी तो मतभेद भुलाकर मानने होंगे आलाकमान के निर्देश

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan political news: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक डॉ. रघु शर्मा ने कांग्रेस नेताओं को सख्त हिदायत दे डाली है. डॉ. शर्मा ने इंडिया टुडे के साथ खास बातचीत में बताया कि राजस्थान में इस साल कांग्रेस पार्टी को दोबारा सत्ता में आना है तो कांग्रेस नेताओं को आपसी मतभेद छोड़ने होंगे. साथ ही पार्टी आलाकमान के आदेश का पालन करते हुए अनुशासन दिखाना होगा. जिससे प्रदेश में पार्टी एकजुट होगी और सरकार रिपिट हो सकती है. इस बयान के बाद सियासी सुगबुगाहट भी होने लगी है.

दरअसल, डॉ. रघु शर्मा को सीएम गहलोत खेमे से बताया जाता है. 25 सितंबर को विधायक दल की बैठक का बहिष्कार वाले 90 विधायकों में डॉ. शर्मा भी शामिल थे शामिल थे. अब उनका यह बयान सियासी मायनों में खास है. शर्मा को गुजरात चुनाव प्रभारी भी बनाया था. लेकिन पार्टी की हार के बाद उन्होंने इस्तीफा सौंप दिया था. 

इससे पहले भी रघु शर्मा ने कहा था कि नेताओं को आलाकमान के प्रति वफादार रहना चाहिए, ना कि किसी एक नेता के प्रति. उनका कहना था कि पार्टी कभी व्यक्तिगत निष्ठाओं से नहीं चलती, सबको मिलकर काम करना पड़ता है. कांग्रेस पार्टी मजबूत है और हम मिलकर चुनाव जीतेंगे. बीजेपी में तो 8-10 सीएम उम्मीदवार है. बीजेपी में कई गुट हैं और कई सीएम. वहीं 90 विधायकों ने अपने इस्तीफे वापस ले लिए हैं. अब ऐसे बयान से लगता है कि वो कांग्रेस पार्टी और आलाकमान की हर बात मानने को तैयार है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

 

    ADVERTISEMENT