जानें गहलोत-पायलट विवाद पर क्या सोचते हैं बाड़मेर के कांग्रेस नेता, युवाओं ने भी रखी अपनी बात

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Barmer News: राजस्थान की गहलोत सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं. वहीं सरकार अपने कार्यकाल के अंतिम वर्ष का बजट भी जल्द ही घोषित करने वाली है. इस बीच हमने सरकार के बारे में बाड़मेर के कांग्रेस नेताओं और आम लोगों की राय जानने की कोशिश की. दोनों ने गहलोत सरकार के कार्यकाल पर अपनी मिलीजुली प्रतिक्रियाएं व्यक्त की हैं.

राजस्थान तक से बातचीत करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि गहलोत सरकार अपने कार्यकाल में घोषित योजनाओं के दम पर 2023 में फिर से सरकार बनाएगी. गहलोत-पायलट की लड़ाई को लेकर कांग्रेसी नेता गोलमाल जवाब देते नजर आए. कुछ नेताओं ने कहा कि गहलोत-पायलट में कोई लड़ाई ही नहीं है. सोशल मीडिया पर लोग पायलट को मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं इसलिए ऐसा माहौल बनाया जा रहा है. कांग्रेस की ही सरकार बनेगी चाहे मुख्यमंत्री का चेहरा कोई भी हो. हालांकि, कुछ कांग्रेसियों ने ये भी माना कि गहलोत-पायलट की लड़ाई में आम कार्यकर्ता पिसता जा रहा है.

राजस्थान तक की टीम ने आम जनता से भी गहलोत सरकार के कार्यकाल पर उनकी राय जानी. लोगों से बातचीत करने पर पता चला कि गहलोत सरकार की चिरंजीवी योजना और इंदिरा रसोई योजना की आम जनता में गहरी पैठ है. इसके अलावा पेपर लीक मामले को लेकर युवा गहलोत सरकार से काफी नाराज है. रोजगार को लेकर भी युवा गहलोत सरकार से अगले बजट में उम्मीद लगाए बैठे हैं ताकि प्रदेश में बेरोजगारी कम हो सके.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता डॉ. चंद्रभान ने की पायलट की तारीफ, अगले चुनाव में सीएम दावेदार को लेकर भी किया इशारा, जानें

    ADVERTISEMENT