राजस्थान Tak Exclusive: किरोड़ी लाल बोले- CM गहलोत और मंत्रियों में सत्ता का गुरूर

ADVERTISEMENT

फोटो: राजस्थान तक
फोटो: राजस्थान तक
social share
google news

Rajasthan Tak Exclusive: भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा इस समय कांग्रेस पर जमकर हमलावर हैं. खास तौर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नमो नारायण मीणा के साथ कार मैं बैठने को लेकर हुई घटना के बाद राजस्थान Tak से खास बातचीत करते हुए किरोड़ी लाल मीणा ने कहा- सीएम गहलोत और उनके मंत्रियों में सत्ता का गुरूर आ गया, लेकिन हम तोड़ देंगे.

rajasthantak.com की लॉन्चिंग पर खास बातचीत करते हुए किरोड़ी लाल मीणा ने गहलोत सरकार को गद्दार वाले बयान और नमो नारायण मीणा के अपमान पर जमकर घेरा. किरोड़ी लाल ने राजस्थान तक डॉट कॉम की लॉन्चिंग पर पूरी टीम को बधाई देते हुए सवाल का बेबाकी से जवाब दिया. पढ़िए उस इंटरव्यू के संपादित अंश…

सवाल: राजस्थान की सियासत किस ओर जा रही है?
जवाब: सरकार में द्युतकबाजी चल रही है. बीकानेर में एक मंत्री कलेक्टर को गेटआउट कर दे. दौसा में एक मंत्री सीनियर आरएएस को गेटआउट कर दे. ये सत्ता का गुरूर है. वही सत्ता का गुरूर मुख्यमंत्री जी में है और ये सारे मुख्यमंत्री जी को देखकर कर रहे हैं. मुख्यमंत्री जब जिम्मेदार व्यक्ति को नकारा, निकम्मा कहे और अब तो गद्दार कह दिया. मुझे लगता है ऐसी स्थिति नहीं आनी चाहिए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सत्ता के गुरूर का उदाहरण देते हुए किरोड़ी बोले- सीएम साहब गंगापुर गए थे, तीन दिन पहले. जो नमो नारायण मीणा केंद्र में 10 साल तक मंत्री रहे, उन्हें ना सीएम ने और ना ही किसी मंत्री ने अपनी कार में जगह दी. नमो नारायण जिस कार में बैठने की कोशिश कर रहे थे वह चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा की थी, लेकिन उन्होंने कार में नहीं बैठाया. ये गुरूर की पराकाष्ठा है, लेकिन अब इनके गुरूर को हम तोड़ देंगे, हमने तय कर लिया है. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा मुझे बहुत बुरा लगा. मैं इसलिए उनसे मिलने गया था.

सवाल: मुरारीलाल मीणा भी कह रहे थे कि चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीणा को आजकल नमो नारायण दिखाई नहीं दे रहे.
जवाब: इनको सिर्फ पद के अलावा कुछ नहीं दिखाई दे रहा है. हमारे जैसे तो उनकी नजर में चींटियां हैं. जैसे एक चींटी हाथी को पछाड़ देती है उसी तरह जनता चुनाव में इन्हें पछाड़ देगी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: राजस्थान Tak Exclusive Interview: गद्दार और BJP से मिले होने वाले गहलोत के बयान पर पायलट का पलटवार

ADVERTISEMENT

सवाल: जब हाईकमान ने कह दिया कि बयानबाजी नहीं करोगे, लेकिन मुख्यमंत्री गहलोत ने अमर्यादित बयानबाजी की. इसपर क्या कहेंगे?
जवाब: मुख्यमंत्री को ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

सवाल: जन आक्रोश रैली में वसुंधरा नहीं आ रहीं?
जवाब: वो तो सतीश पूनिया जी बता सकते हैं. जब यह कार्यक्रम तय हुआ तब वसुंधरा जी वहां मौजूद थीं, लेकिन कल जयपुर में मीटिंग में क्यों नहीं आई इसकी जानकारी मुझे नहीं है.

यह भी पढ़ें: राजस्थान Tak से Exclusive बातचीत में सचिन पायलट का संकेत- गहलोत के रहते सरकार रिपीट नहीं होगी

सवाल: क्या बीजेपी में सब कुछ ठीक है?
जवाब: ऐसा कुछ नहीं है. मीडिया में ऐसा बन गया है, लेकिन ऐसा नहीं है. हमारी पार्टी को ऐसे परसेप्शन को रोकना चाहिए.

सवाल: पुजारी की हत्या मामले में आपके साथ बीजेपी क्यों नहीं थी?
जवाब: नहीं ऐसा नहीं है, पार्टी ने साथ दिया था. सतीश पूनिया जी साथ थे. सरकार को कानून लाना चाहिए नहीं तो पुजारी की जमीन नहीं बचेगी.

सवाल: उपेन यादव को गिरफ्तार क्यों किया गया?
जवाब: बेरोजगारों की आवाज उठाने के मामले में सरकार उपेन पर दमन कर रही है. गांधीवादी तरीके कर रहे आंदोलन को सरकार दबाना चाहती है. उपेन को गायब कर रखा है. मैं सरकार से मांग करूंगा ऐसे व्यक्ति का दमन ना किया जाए.

यहां देखिए इस इंटरव्यू को…

    ADVERTISEMENT