राजीव गांधी युवा मित्रों का अनिश्चितकालीन धरना, पायलट भी पहुंचे शहीद स्मारक

ADVERTISEMENT

sachin pilot
sachin pilot
social share
google news

Sachin Pilot: राजीव गांधी युवा मित्र बहाली की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे हैं. अब उनसे मुलाकात करने के लिए पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) जयपुर स्थित शहीद स्मारक पहुंचे. उन्होंने भजनलाल सरकार को इस मुद्दे पर जमकर घेरा और आरोप लगाया कि सरकार की यह कार्यवाही प्रतिशोध की भावना से की जा रही है. पायलट ने कहा कि बीजेपी की केंद्र और राजस्थान सरकार नौजवानों को रोजगार देने की बात करती है. हाल ही में चुनाव के दौरान कहा गया था कि नौजवानों को अवसर दिए जाएंगे.

मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि मेरा आग्रह है जिन लोगों को पहले से ही सर्विस पर रखा गया है. इन लोगों को यदि हम बहाल नहीं कर सकते या कोई विकल्प नहीं दे सकते तो ऐसे में रोजगार खत्म करके नौकरियां कम करने का जो काम हो रहा है, उसका हम सब विरोध करते हैं.

योजनाओं के नाम बदले जाने पर भी पायलट ने कही ये बात

पायलट ने कहा “हम सरकार से भी चाहते है कि इतने जो हजारों नौजवानों को सरकार ने नौकरी पर रखा था. अगर आपको किसी नाम से परेशानी है या उसका नाम या टर्म और कंडीशन बदलना चाहते है. किसी प्रावधान में बदलाव करना चाहते है. उन सब के लिए चर्चा करें कोई दिक्कत नहीं है. जो लोगों को रोजगार मिला है और उनसे आप रोजगार छीन लें, मै इसको गलत कदम मानता हूं.”

उन्होंने सरकार के इस कदम का विरोध करते हुए कहा कि इतने दिनों से यह सब लोग धरना दे रहे है. अनशन कर रहे गई लोगों की तबीयत भी खराब हो गई है, सरकार को आगे आकर इनसे चर्चा करनी चाहिए. मेरा आप से इतना ही निवेदन हैं कि आप यदि और नौकरी नहीं दे पा रहे हैं तो कम से कम जिन लोगों को हमने नौकरी दी थी, उनको आप द्वेषतापूर्ण कार्रवाई करके खत्म करोगे तो बड़ा गलत संदेश जाएगा. हम यहां सभी नौजवानों को समर्थन करने के लिए इनकी मांगों को समर्थन देने के लिए यहां आये हैं.

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः Rajasthan में कांग्रेस क्यों हारी ये रजनी पाटिल ने बता दिया, किसकी तरफ है ये बड़ा इशारा?

    ADVERTISEMENT