शिक्षा मंत्री दिलावर का ये सवाल पड़ गया भारी, फिर नप गए कोटा के एईएन

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Madan dilawar: कोटा के जिला परिषद सभागार में साधारण सभा की बैठक में पंचायती राज व शिक्षा मंत्री मदन दिलावर सख्त नजर आए. इस दौरान मंत्री ने अधिकारियों को सख्त लहजे में निर्देश दिया. यह बैठक 9 फरवरी को हुई, जिसमें उन्होंने कहा कि अब राजस्थान में सरकार बदल चुकी है और ये सरकार पूरी ईमानदारी और क्वालिटी के साथ निर्माण और अन्य कार्यों को करने में विश्वास करती है. वहीं, बैठक में सही जवाब नहीं देने पर सुल्तानपुर के सहायक अभियंता फिरोज अहमद को मंत्री ने एपीओ कर दिया.

इधर, बैठक के बाद मीडियाकर्मियों से बात करते हुए मंत्री दिलावर (Madan dilawar) ने कहा कि राजस्थान की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने गांवों के विकास की चिंता नहीं की. कांग्रेस (congress) ने पंचायती राज में पैसे ही जारी नहीं किए, जिसके चलते विकास कार्य अवरुद्ध हुए, लेकिन अब राज्य में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के नेतृत्व में बनी सरकार इस पर ध्यान दे रही है.

शिक्षा मंत्री के सवाल का नहीं मिला जवाब तो हुई कार्रवाई

बता दें कि जिला परिषद में करीब 5 घंटे तक बैठक चली. इस बैठक में मंत्री दिलावर ने सफाई को लेकर सख्त निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जो भी इसमें लापरवाही करेगा, उसे पर एक्शन लिया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने बैठक में महिलाओं के साथ अभद्रता करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई को लेकर चर्चा की है. सुल्तानपुर एलियन फिरोज से जवाब मांगा तो वह नहीं दे सके इस पर मंत्री ने उन्हें एपीओ करने के निर्देश दे दिए हैं.

बैठक के दौरान जल जीवन मिशन के तहत घटिया पाइप लगाने और डिस्कॉम में ट्रांसफार्मर नहीं होने पर साठी क्षेत्र में बिजली चोरी के मुद्दे को लेकर जमकर हंगामा हुआ. इस दौरान जिला परिषद सदस्य कृष्ण गोपाल गुप्ता ने कहा कि बिजली विभाग के लोग पैसे लेकर ट्रांसफार्मर रिलीज कर रहे हैं. वहीं, इन मुद्दों के संज्ञान में आने के बाद मंत्री ने 10 से 15 दिनों में इन सभी मामलों की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए.

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः मेवाराम जैन के बाद कांग्रेस के एक और नेता की करतूत आ गई सामने! हाईकोर्ट ने दिए ये आदेश

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT