जालौर: मटकी मामले में दलित छात्र की मौत के बाद अब परिवार के सदस्य के साथ मारपीट, जानें पूरा मामला

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Jalore News: राजस्थान का जालोर का बहुचर्चित इंद्र मेघवाल प्रकरण एक बार फिर सुर्खियों में है. इंद्र मेघवाल के पिता देवाराम का कहना है कि जाति के चलते परिवार को फिर से टारगेट किया जा रहा है. दरअसल, मंगलवार को उनके भाई मोटाराम मेघवाल से मारपीट की गई. जिसके चलते वह गंभीर रूप से घायल हुए है. देवाराम मेघवाल का कहना है कि हमें लगातार जान से मारने की नीयत से कोशिश की जा रही है. इसके लिए पिछले दो दिन से रेकी हो रही थी. देवाराम ने इस पूरे मामले की वजह चार महीने पहले हुए मटकी प्रकरण और थप्पड कांड को बताया है.

गौरतलब है कि चार महीने पहले अगस्त महीने में इंद्र मेघवाल की स्कूल में मृत्यु हो गई थी. 9 वर्षीय दलित छात्र की पिटाई के मामले में आरोप लगे कि टीचर की पिटाई के चलते इंद्र की मौत हुई है. परिजनों का आरोप था कि शिक्षक खुद उच्च जाति से था. जिसके बाद मटकी से पानी पीने के चलते इंद्र को बेवजह पीटा गया. जिसके चलते छात्र की मौत हो गई. अब एक बार फिर मामला तूल पकड़ गया है. 

वहीं, पुलिस का कहना है कि मटकी वाले प्रकरण ओर इस प्रकरण का कोई लेना देना है. इस मामले को पुलिस जमीन विवाद बता रही है. पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन अग्रवाला का कहना है कि यह मामला पुराना है. यह मामला सायला थाने मे मुकदमा दर्ज हो चुका है. इसकी जांच सीओ राजीवाड़ा कर रहे है. पुलिस अधिकारी का कहना है कि यह मामला देवाराम मेघवाल से जुड़ा नहीं है. हमला देवाराम के भाई मोटराम पर किया गया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेः राजस्थान में पुलिस भी सुरक्षित नहीं, नोटिस देने गए सिपाही को बदमाशों ने हॉकी से पीटा, पैर हुआ फ्रैक्चर

एससी-एसटी एक्ट में दर्ज हुआ मामला
जालोर पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन अग्रवाला् ने घायलों के बयान दर्ज किए. पीड़ित मोटाराम मेघवाल का कहना है कि रास्ते मे जाते समय डूंगरसिंह और जालमसिंह ने हमला किया. जिसके बाद पुलिस ने धारा 307 और SC-ST ACT की धाराओं मे प्रकरण दर्ज किया है. पीड़ित मोटाराम का मेडिकल कराया गया है ओर एक आरोपी को हिरासत में लिया है.

ADVERTISEMENT

कंटेटः नरेश बिश्नोई

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT