कोटाः राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम पहुंची आरटीयू, प्रोफेसर पर छात्रा से अस्मत मांगने का है आरोप

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Kota News: कोटा की राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी (आऱटीयू) में परीक्षा में पास करने के बदले अस्मत मांगने का मामला राष्ट्रीय महिला आयोग तक पहुंच चुका है. मामले की जांच के लिए आयोग की अध्यक्ष के निर्देश पर 3 सदस्यीय दल कोटा पहुंचा. महिला आयोग का दल यूनिवर्सिटी परिसर में विद्यार्थियों के बयान दर्ज कर रहा है. गीता भट्ट की अध्यक्षता में गठित जांच समिति में कोऑर्डिनेटर प्रवीण सिंह और काउंसलर शालिनी सिंह भी शामिल हैं.

गौरतलब है कि कोटा स्थित राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी (आरटीयू) में प्रोफेसर और बिचौलिया छात्र को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. छात्रा ने आरोप लगाए थे कि प्रोफेसर बिचौलिया छात्र के जरिए शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालता था. ऐसा नहीं करने पर फेल कर जिंदगी खराब करने की धमकी देता था. जिसके बाद असिस्टेंट प्रोफेसर गिरीश परमार के साथ ही छात्र अर्पित अग्रवाल को भी दादावाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया. इस मामले में कोर्ट में छात्रा के बयान भी करवाए गए.

मामला सामने आने के बाद के विरोध में कई छात्र संगठनों ने विरोध भी जताया. इस दौरान हाड़ौती संयुक्त छात्र संगठन ने आरोपी परमार का पुतला फूंका और कुलपति के नाम ज्ञापन देकर आरोपी को निलंबित करने की मांग भी की. यूनिवर्सिटी में हंगामा बढ़ता देख पुलिस को जाब्ता तैनात करना पड़ा था

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः पास करने के बदले अस्मत मांगने का आरोपी प्रोफेसर और बिचौलिया छात्र गिरफ्तार

    ADVERTISEMENT