कोटा: ऋण वितरण मेले में जारी हुआ 1580 करोड़ का लोन, स्ट्रीट वेंडर्स, किसान और युवाओं को होगा फायदा!

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Kota news: कोटा के दशहरा मैदान में विशाल ऋण वितरण मेले का आयोजन हुआ. जिसमें 33 हजार 834 लाभार्थियों को 1579.56 करोड़ का ऋण जारी किया गया. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लाभार्थियों को ऋण राशि के चेक वितरित किए. आयोजन में लाभार्थियों की संख्या और जारी की गई ऋण राशि की दृष्टि से यह देश का अब तक सबसे बड़ा और सफल रहा. लाभार्थियों में सड़क पर सब्जी, फल, फूल, चाय-नास्ता तथा अन्य फुटकर सामग्री बेचने वाले स्ट्रीट वेंडर्स से लेकर लघु उद्यमी, स्वयं सहायता समूह, पशुपालक, किसान, युवा आदि शामिल हैं.

इस अवसर पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि देश के नवनिर्माण में हर व्यक्ति का योगदान हो. विभिन्न योजनाओं के तहत जारी यह ऋण अभावग्रस्त और वंचित वर्ग की भागीदारी सुनिश्चित करेगा. लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि समाज के सबसे कमजोर वर्ग के सशक्तिकरण की दिशा में यह बड़ी पहल है. इसके बेहद सफल और उत्साहजनक परिणाम जल्द सामने आएंगे.

ऋण वितरण मेले में उत्साह, 50 हजार से अधिक लोग जुटे
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर कोटा में रविवार को आयोजित विशाल ऋण वितरण मेला वंचित और अभावग्रस्त वर्ग के हजारों लोगों को उम्मीद मिलेगी. ऐसे लोग जिनके पास बैंक में अमानत के तौर पर रखने के लिए कुछ नहीं है. उनको आर्थिक संबल मिलेगा. बिरला ने सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से ऋण दिलाने की पहल की.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

अपनी समृद्धि के लिए बैंक से लें लोन, गारंटर सरकार है- वित्त मंत्री
देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश भर के स्ट्रीट वेंडर्स, युवाओं, किसान, पशुपालकों, स्वयं सहायता समूहों महिलाओं से कहा कि अपनी आर्थिक समृद्धि के लिए वे बैंक से ऋण लें. आपको वहां सोना, जमीन या अन्य किसी चीज की गारंटी देने की जरूरत नहीं हैं, आपकी गारंटर सरकार है. वे दशहरा मैदान में आयोजित विशाल ऋण वितरण मेले को संबोधित कर रही थीं. निर्मला सीमारमण ने कहा कि देश में अब हालात बदल गए हैं.

वहीं महिलाओं से कहा कि वे आगे आएं और समूह बनाकर अपनी आर्थिक समृद्धि की राह प्रशस्त करें. इसके लिए वे कृषि उपज समूह तैयार करें. इस उपज को उत्पन्न करने, उसके प्रसंस्करण और उसके भंडारण की व्यवस्था के लिए उन्हें बहुत कम दर पर लोन मिलेगा.

ADVERTISEMENT

लक्ष्य से छह गुना पशुपालन ऋण
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि किसी भी योजना के तहत हर जिले ऋण के लिए लक्ष्य निर्धारित किए जाते हैं. कोटा में वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए पशुपालक ऋण वितरण के लिए 10 करोड़ रूपए का लक्ष्य निर्धारित किया गया था. लेकिन उससे लगभग सात गुना अधिक 68.15 करोड़ के ऋण जारी किए गए हैं.

ADVERTISEMENT

कोटा को कभी नहीं भूलते स्पीकर बिरला
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने भाषण में स्पीकर ओम बिरला की भी जमकर सराहना की. उन्होंने कहा कि लोक सभा अध्यक्ष के पास सदन के काम का बहुत भार होता है. इस कारण वे अपने संसदीय क्षेत्र से दूर हो जाते हैं. लेकिन लोक सभा अध्यक्ष बिरला कोटा को कभी नहीं भूलते. कोटा-बूंदी की जनता के कल्याण के लिए निरंतर प्रयास करते हैं.

गरीब को 2% सैकड़ा के ब्याज के चंगुल से मुक्त करवाएंगेः बिरला
ऋण वितरण मेले में लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि अब कोई भी गरीब व्यक्ति ब्याज के चंगुल में नहीं फंसेगा. जो भी व्यक्ति रोजगार करना चाहता है उसे बैंक से लोन दिलाकर उसकी आत्मनिर्भरता और आर्थिक सशक्तिकरण के द्वार खोलेंगे. बिरला ने कहा कि गरीब व्यक्ति भी आत्मसम्मान से जीना चाहता है. रोजगार प्रारंभ करने के लिए जब वह बाजार से ऋण लेता है तो लोन देने वाला 10 प्रतिशत राशि पहले ही अपने पास रख लेता है. जो राशि दी है उस पर भी 24 प्रतिशत सालाना का ब्याज लेता है. इससे गरीब की कमर ही टूट जाती है. वह ब्याज के बोझ से बाहर ही नहीं निकल पाता. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

हम कोटा से शुरू कर पूरे देश में नया आर्थिक तंत्र खड़ा करना चाहते हैं जिसमें हर गरीब का बैंक से लोन मिलेगा, सस्ती ब्याज दर पर बिना अमानत रखे लोन मिलेगा. मुझे विश्वास है कि गरीब व्यक्ति पूरी ईमानदार से उस ऋण को चुकाएगा, फिर और अधिक ऋण लेकर अपने काम को विस्तार देगा. वहीं बिरला ने वित्त मंत्री सीतारमण के लिए कहा कि इतनी सर्दी में भी उन्होंने कोटा आकर स्ट्रीट वेंडर्स, पशुपालकों, महिलाओं के लिए अपना कमिटमेंट प्रदर्शित किया है.

कोटा में बनाना चाहता हूं अमूल से बड़ा ब्रांड
स्पीकर बिरला ने कहा कि कोटा को चंबल का वरदान प्राप्त है. यहां साल भर पानी है और जमीन भी उपाजाऊ है. फिर भी यहां राज्य के अन्य हिस्सों से कम पशु पालक है. मेरा सपना है कि कोटा में पशुपालकों को ऋण के माध्यम से इतना सक्षम बनाए कि कोटा की धरती नई श्वेत क्रांति का केंद्र बने. यहां घर में पशु पालन हो और सामूहिक प्रयासों से हम यहां कोटा में अूमल से बड़ा ब्रांड खड़ा करें.

यह बी पढ़ें: निर्मला सीतामरण ने कोटा के किसानों-युवाओं को दी सौगात, लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने की तारीफ

    ADVERTISEMENT