रक्षा संबंधी स्थायी समिति ने किया पोकरण रेंज का दौरा, भारतीय सेना की शक्ति का बनी गवाह

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: रक्षा मंत्रालय की रक्षा संबंधी स्थायी समिति का जैसलमेर में दौरा रविवार से शुरू हो गया. विजिट के पहले दिन स्थायी समिति के 22 सदस्यों ने पोकरण फायरिंग रेंज में भारतीय सेना के दमखम को देखा. इस दौरान सेना ने टैंकों के जरिए अपनी शक्ति का प्रदर्शन भी किया. रक्षा संबंधी स्थायी समिति 8 जनवरी से 12 जनवरी तक जैसलमेर दौरे पर रहेगी.

रक्षा मंत्रालय की रक्षा संबंधी स्थायी समिति के चेयरपर्सन राज्यसभा सांसद जुआल ओराम के नेतृत्व में कमिटी रविवार को जैसलमेर पहुंची थी.12 कॉर्प कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कपूर ने पोकरण रेंज में सेना की चलने वाली फायरिंग व ऑपरेशनल गतिविधियों के संबंध में समिति को जानकारी दी.

8 से 12 जनवरी तक चलने वाले इस दौरे की कड़ी में रक्षा कमेटी ने रविवार को जैसलमेर के पोकरण फायरिंग रेन्ज का दौरा कर वहां भारतीय सेना के फायर पावर क्षमता की जानकारी ली. उन्होंने बहुमुखी और स्वदेशी निर्मित हथियार प्रणालियों को भी देखा. उन्होंने नकली युद्ध क्षेत्र की स्थिति में स्वदेशी हथियार के डेमोस्ट्रेशन का भी जायजा लिया. 9 जनवरी को रक्षा संबंधी स्थायी समिति के सदस्यों को पुणे स्थित दक्षिणी कमान के सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके सिंह द्वारा जानकारी दी जाएगी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

मंगलवार को यह समिति भारत पाकिस्तान 1971 युद्व के भारत के शौर्य व बहादुरी के कारनामों के गवाह बने हुवे लोंगेवाला बैटल फील्ड का भी दौरा करेगी. उसके बाद तनोट क्षेत्र में एक बीओनी पर जाकर बीएसएफ के ऑपरेशनल क्रियाकलापों को देखने के साथ-साथ जवानों और अधिकारियों से पूरे बॉर्डर बेल्ट की गतिविधियों के बारे में जानकारी भी हासिल करेगी.

रक्षा संबंधी स्थायी समिति के अध्यक्ष जुआल ओराम के साथ एससीओडी के 22 अन्य सदस्य भी हैं. एससीओडी एक समिति है जिसमें रक्षा नीतियों और रक्षा मंत्रालय के निर्णय लेने के विधायी अवलोकन के उद्देश्य से संसद के चयनित सदस्य शामिल हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी देखें: निर्मला सीतामरण ने कोटा के किसानों-युवाओं को दी सौगात, लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने की तारीफ

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT