ईडी का अधिकारी बनकर कारोबारी से मांगे 40 लाख, ACB ने किया ट्रैप तो ये निकली सच्चाई, जानें

विशाल शर्मा

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: एक शख्स द्वारा ईडी का अधिकारी बनकर जयपुर के कारोबारी से 40 लाख रुपये मांगने का मामला सामने आया है. शातिर ने खुद को ईडी का तथाकथित एडिशनल डायरेक्टर बताकर पहली किस्त 20 लाख रुपए बताए गए पते पर मंगवाने के लिए व्हाट्सऐप कॉल भी किया. जिसके बाद राजस्थान एसीबी ने ट्रैप का जाल बिछाया लेकिन मामला धोखाधड़ी का निकल गया. मामले को लेकर जयपुर के गांधीनगर थाने में ठगी का मामला दर्ज किया गया है.

गांधीनगर थाना अधिकारी सुरेन्द्र यादव ने बताया कि दिल्ली में तथाकथित ईडी का एडिशनल डायरेक्टर संजय कुमार बनकर एक शख्स ने जयपुर के जवाहर नगर में रहने वाले व्यापारी विकास जैन को ईडी की कार्रवाई की धमकी दी. उसने कार्रवाई से बचने के लिए व्यापारी से 40 लाख रुपये की मांग भी की. इसके बाद पीड़ित व्यापारी एसीबी मुख्यालय पहुंचा और तथाकथित ईडी के घूसखोर अधिकारी के खिलाफ शिकायत दी. 7 फरवरी को शातिर बदमाश ने व्यापारी को फिर से व्हाट्सऐप कॉल कर 20 लाख रुपये की पहली किस्त बताए गए पते पर भेजने की मांग की.

एसीबी के एसीपी सचिन शर्मा ने तथाकथित ईडी अधिकारी को रंगे हाथों रिश्वत की राशि लेते हुए ट्रैप करने की प्लानिंग की. वहीं एसीबी ने पैकेट में 1 लाख रुपए की नगदी के साथ बाकी कागज लगाकर पैकेट तैयार किया. तभी तथाकथित ईडी अधिकारी ने हंस ट्रेवल्स पर फोन कर जयपुर से अपना पार्सल इंदौर भिजवाने के लिए कहा. इसके बाद ट्रेवल्स कर्मचारी इमरान को जयपुर के झालाना डूंगरी का पता भेज कर व्यापारी विकास जैन से धनराशि का पार्सल कलेक्ट करवाया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ें: प्रदेश में 17 साल तक मुख्यमंत्री रहे मोहनलाल सुखाड़िया की शादी का हुआ था विरोध, बंद हो गए थे बाजार

एसीबी टीम इसके बाद पार्सलकर्मी इमरान के पीछे-पीछे हंस ट्रेवल्स तक पहुंची. वहां कार्यरत कर्मचारी अमन गुप्ता से पूछताछ की तो पता चला कि उसके पास व्हाट्सऐप कॉल आया था. कॉल पर उसको बताया गया कि जयपुर से इंदौर के लिए खाने पीने का सामान पार्सल भेजना है और पार्सल को लोकेशन से पिकअप करना है. फिर उसने लोकेशन भेजी जिसके बाद ट्रेवल्स कर्मचारी इमरान को भेजा गया.

ADVERTISEMENT

इसके बाद एसीबी ने हंस ट्रेवल्स के कर्मचारी अमन गुप्ता और इमरान को धनराशि के पैकेट के साथ हिरासत में ले लिया. वहीं पुरा मामला धोखाधड़ी और ठगी का होने पर एसीबी ने व्यापारी विकास जैन को गांधीनगर थाने भेजा जहां उसने ईडी के तथाकथित संदिग्ध अधिकारी एडिशनल डायरेक्टर संजय कुमार के खिलाफ केस दर्ज करवाया. पुलिस ने आईपीसी 419, 420, 384, 506 व धारा 663 आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया. पुलिस ने व्हाट्सऐप कॉल के नबरों को ट्रैस किया तो नंबर की लोकेशन झारखंड आई. इससे साफ हो गया कि मामला धोखाधड़ी का है. पुलिस मामला दर्ज कर आगे की पड़ताल में जुट गई है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: BJP सांसद बालकनाथ ने दिया बड़ा बयान, कहा- वसुंधरा राजे के नेतृत्व में लड़ा जाएगा विधानसभा चुनाव

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT