कोटाः पास करने के बदले अस्मत मांगने का आरोपी प्रोफेसर और बिचौलिया छात्र गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Kota News: कोटा स्थित राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी (आरटीयू) में प्रोफेसर और बिचौलिया छात्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. छात्रा ने आरोप लगाए कि प्रोफेसर बिचौलिया छात्र के जरिए शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालता था. ऐसा नहीं करने पर फेल कर जिंदगी खराब करने की धमकी देता था. दिनभर पूछताछ के बाद देर रात कोटा स्थित आरटीयू के असिस्टेंट प्रोफेसर गिरीश परमार के साथ ही छात्र अर्पित अग्रवाल को भी दादावाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया. इस मामले में कोर्ट में छात्रा के बयान भी करवाए गए.

आरोपी प्रोफेसर श्रीगंगानगर का रहने वाला है. कॉलेज की फाइनल ईयर की छात्रा ने मंगलवार रात रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि एसोसिएट प्रोफेसर परमार परीक्षा में पास करने के नाम पर संबंध बनाने का दबाव डालता है. वह फाइनल ईयर के स्टूडेंट के मार्फत छात्राओं पर दबाव बनाता है. गिरीश परमार के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट की धाराएं भी लगाई गई. इस पूरे मामले में प्रोफेसर परमार और छात्र अर्पित की बातचीत का वायरल ऑडियो भी सामने आया. जिसमें वह छात्राओं को लेकर अभद्र बातचीत कर रहे हैं. ऑडियो सामने आने के बाद हंगामा हुआ और 3 सदस्यीय जांच कमेटी बनाई गई है. 

इस बीच कल एक और छात्रा ने आरोप लगाया और पुलिस के पास पहुंची. उसने पुलिस से कहा कि प्रोफेसर परमार ने छात्र के जरिए उस पर भी शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाला. इसे भी उसीबिचौलिए छात्र और एक छात्रा ने फेल करने की धमकी दी थी. साथ ही पास कराने की एवज में कार में बैठाकर परमार के पास ले जाने के लिए राजी करने लगा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः पास कराने के बदले छात्राओं से फिजिकल डिमांड का ऑडियो Viral, प्रोफेसर के खिलाफ केस दर्ज

इस घटना के विरोध में कई छात्र संगठनों का प्रदर्शन जारी है. हाड़ौती संयुक्त छात्र संगठन ने आरोपी परमार का पुतला फूंका और कुलपति के नाम ज्ञापन देकर आरोपी को निलंबित करने की मांग की. एबीवीपी ने भी विरोध प्रदर्शन किया और साथ ही गवर्नमेंट कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष सांमरिया ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर आरोपी को बचाने का आरोप लगाया. कई छात्र संगठनों के यूनिवर्सिटी पहुंचने के बाद हंगामा बढ़ता देख पुलिस को जाब्ता तैनात करना पड़ा.

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT