भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री डॉ. अलका ने कहा- केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत करें प्रदेश का नेतृत्व, सियासत छिड़ी

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan political news: प्रदेश में कांग्रेस सरकार के चार साल पूरे होने पर भाजपा सरकार की विफलताओं को जनाक्रोश यात्रा निकाल रही है. रविवार को जनाक्रोश सभा निवाई उपखंड मुख्यालय पर आयोजित हुई. यह अंतिम जनाक्रोश महासभा थी. महासभा के मुख्य वक्ता जोधपुर सांसद व केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत रहे. शेखावत को यहां 51 किलो वजनी फूलों की माला और 51 मीटर लंबा केसरिया साफा बांध स्वागत किया. खास बात यह रही कि इस साफे को सभा में चारों ओर घुमाया गया. इस दौरान भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री ने डॉ. अलका सिंह गुर्जर ने एक बयान देकर खलबली मचा दी.

डॉ. अलका सिंह गुर्जर ने कहा कि अब समय आ गया है, जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को उनके गृह क्षेत्र जोधपुर में पानी पिला देने वाले केंद्रीय मंत्री शेख़ावत प्रदेश में भाजपा की कमान संभाले व नेतृत्व करें. उनके इस बयान के बाद सियासी गलियारों में चर्चा छिड़ गई. महासभा को सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया, मालपुरा विधायक कन्हैया लाल चौधरी, जिला प्रभारी अशोक सैनी भादरा के अलावा जिलाध्यक्ष राजेंद्र पराना ने भी संबोधित किया.

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेख़ावत ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के समय किए गए विकास कार्यों को ऐतिहासिक बताया. साथ ही सीएम गहलोत और कांग्रेस सरकार निशाना साधा. कहा कि अपराधियों व माफियाओं को संरक्षण देने वाली सरकार बन गई है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमें साफ दिख रहा है कि 2023 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक विजय सुनिश्चित है. कहा कि सत्ता में वापस लौटते ही भाजपा पेपर लीक से जुड़े हर व्यक्ति को सलाखों के पीछे भेजेगी. माफियाओं को संरक्षण दे रहे अधिकारियों को भी सजा दी जाएगी. शेखावत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रदेश में भाजपा का नेतृत्व कौन करेगा, यह सब तय करना केंद्रीय संसदीय बोर्ड का कार्य है. मंत्री शेख़ावत ने कहा कि विधान सभा चुनावों में हमारा चेहरा सिर्फ ओर सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी ही होगें.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री डॉ. अलका सिंह गुर्जर के बयान पर कहा कि वे पार्टी व संगठन के आज्ञाकारी हैं और पार्टी व संगठन से जो काम मिलेगा उसे करने के लिये तैयार हैं. कई होर्डिंग्स में राजे की तस्वीर गायब होने को लेकर पूछे गए सवाल पर केंद्रीय मंत्री शेख़ावत ने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है, बस यह मीडिया के देखने-देखने का फर्क है.

यह भी पढ़ें: जन आक्रोश सभा में कांग्रेस पर बरसे प्रदेश प्रभारी, सीएम गहलोत और मंत्री मीणा को इस्तीफा देने की नसीहत

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT