सतीश पूनिया ने अशोक गहलोत को लिया आड़े हाथ, कहा- सीएम ने 6 हाथी खा लिए और डकार भी नहीं ली

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: जैसलमेर के पोकरण में जन आक्रोश यात्रा में आयोजित सभा के बाद प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया में पत्रकारों से खुलकर बात की. उन्होंने कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा. साथ ही 3 दिन पूर्व गोमट गांव में भाजपा की जन आक्रोश रथ यात्रा पर हुई पत्थरबाजी की कड़ी निंदा करते हुए निंदनीय घटना बताई. पूनिया ने कहा कि जन आक्रोश यात्रा से अलख जगेगी. कांग्रेस की सरकार का हनुमान रूपी जनता खात्मा करेगी.

प्रदेशाध्यक्ष ने 2023 में भाजपा के सीएम फेस को लेकर कहा कि यह आलाकमान द्वारा तय किया जाएगा. कुछ दिन पहले राजस्थान सरकार के मंत्री के वायरल वीडियो को लेकर सतीश पूनिया ने बताया कि मंत्री स्वयं नैतिकता के आधार इस्तीफा दे और वीडियो के बारे में आत्ममंथन करें. इससे पूर्व पोकरण में सभा के दौरान पूनिया ने कहा कि पोकरण मेरा कोई न कोई रिश्ता जरूर है. इस दौरान उन्होंने पोकरण की चमचम मिठाई की भी तारीफ की.

उन्होंने जनआक्रोश यात्रा के समापन समारोह में कहा कि कांग्रेस पार्टी ने पूरे चार साल के काल खंड में केवल वोट बैंक की राजनीति की और केवल वोट की निगाह के चलते हिंदू नववर्ष पर प्रतिबंध लगाया. राजस्थान की शांति को भंग करने का काम पिछले चार सालों में हुआ है. इसलिए यह जनआक्रोश है. राजस्थान देश विदेश में प्रसिद्ध है. यहां देश विदेश से सैलानी आते हैं. क्योंकि उन्हें यहां राजस्थान की संस्कृति, धोरे, स्मारक अच्छे लगते हैं. लेकिन कांग्रेस ने इन सब पर कलंक लगाने का कार्य किया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पूनिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को पूरा बहुमत नहीं मिला था. 99 सीटें ही आई थी. भाजपा की 72 आई थी. सरकार 99वें के चक्कर में थी और सरकार को बचाने का कार्य बीएसपी ने किया. वह भी बड़े अनैतिक तरीके से. दूसरी तरफ आरोप लगाते हैं कि भाजपा हमारी सरकार गिराना चाहती है. पूनिया ने कहा-  सीएम ने 6 हाथी खा लिए, उनका नामोनिशान गायब कर दिया. लेकिन अशोक गहलोत जादूगर ही नहीं उसका हाजमा भी ठीक है. 6 हाथी खा लिए और डकार भी नहीं ली. लेकिन 2023 में कांग्रेस पार्टी को बीएसपी लेकर डूबेगी. लेकिन यह बीएसपी मायावती की नहीं है. बल्कि बिजली, सड़क और पानी से त्रस्त जनता ऐसा बदला लेगी कि कांग्रेस पार्टी का सूपड़ा साफ हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: अलवर: 10 वर्षीय नाबालिग से गैंगरेप, रात को अगवा कर सरसों के खेत में ले जाकर घटना को दिया अंजाम!

ADVERTISEMENT

पीएम मोदी के बारे में पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो द्वारा की गई अमर्यादित टिप्पणी पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए पूनिया ने कहा कि उन्हें 16 दिसंबर 1971 का दिन नहीं भूलना चाहिये, अपने पुरखों से पूछ लें, उनके कैसे घुटने टिका दिये थे.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: बीजेपी के MLA का वीडियो वायरल, कहा- मेरी हार हुई तो मैं जहर खाकर जान दे दूंगा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT