राजस्थान में सभापति और पूर्व आयुक्त ने 20 महिलाओं के साथ किया गैंगरेप! सामने आई ये हकीकत

ADVERTISEMENT

Rajasthan: बहला-फुसलाकर नाबालिग से गैंगरेप, पुलिस ने 2 रिश्तेदारों के खिलाफ दर्ज किया केस
Rajasthan: बहला-फुसलाकर नाबालिग से गैंगरेप, पुलिस ने 2 रिश्तेदारों के खिलाफ दर्ज किया केस
social share
google news

Rajasthan Crime News: सिरोही (sirohi news) में नगर परिषद सभापति महेंद्र मेवाड़ा और तत्कालीन आयुक्त महेंद्र चौधरी पर 20 महिलाओं के साथ गैंगरेप करने का आरोप लगा है. दरअसल, पाली जिले की एक महिला की शिकायत पर सिरोही पुलिस ने केस दर्ज किया है. इसके बाद पुलिस ने कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है.

पीड़ित महिला ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सभापति और आयुक्त ने मुझे और अन्य 15-20 महिलाओं को आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनाने का झांसा देकर बुलाया था. इसके बाद उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर सबके साथ गैंगरेप किया. शिकायत में वीडियो बनाकर महिलाओं को ब्लैकमेल करने का भी आरोप लगा है.

हाईकोर्ट के आदेश पर दर्ज हुई FIR

गौरतलब है की हाईकोर्ट के आदेश पर तकरीबन 10 दिन पहले गैंगरेप की 8 एफआईआर सिरोही शहर कोतवाली थाने में दर्ज की गयी थी. जिसके बाद जिले भर में इस मामले को लेकर हलचल मची हुई है. पुलिस इस मामले की जांच करने का हवाला देते हुए कैमरे पर कुछ भी कहने से बचती नजर आ रही है.

गैंगरेप का आरोप झूठा- सभापति महेंद्र मेवाड़ा

सिरोही  नगर परिषद सभापति महेंद्र मेवाड़ा और तत्कालीन आयुक्त महेंद्र चौधरी ने मीडिया के सामने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि उन पर दर्ज की गयी सभी एफआईआर झूठी हैं. एक व्यक्ति के इशारे पर ये दर्ज करवाई गई हैं. सभापति महेंद्र मेवाडा ने बताया कि पूर्व में भी इसी तरह का परिवाद महिला थाने में दिया गया था जिसे पुलिस जांच में झूठा पाया गया था. इधर इसी मामले में दूसरे आरोपी तत्कालीन आयुक्त महेंद्र चौधरी ने बताया की यह मामला पूर्ण रूप से झूठा है. वह ऐसी किसी महिला को नहीं जानते. चौधरी ने यह भी बताया कि वह तो अगस्त 2022 में ही रिटायर हो चुके थे.

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः पायलट ने केंद्र की सरकार को लिया आड़े हाथ, पाकिस्तान से सबक लेने का किया इशारा!

    ADVERTISEMENT