झालावाड: ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन, कोरोना काल में हुई थी बंद

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Jhalawar news: झालावाड में ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर धरना दिया गया. दरअसल, कोरोना काल से पहले ठहराव वाली रेल गाड़ियो को रेल मंत्रालय ने अभी तक स्टेशन पर ठहराव नहीं दिया है. इसको लेकर झालावाड रोड रेल्वे स्टेशन (छत्रपूरा) पर आसपास के 40 गावों के लोगों ने धरना-प्रदर्शन किया. बाद में उपस्थित अधिकारी को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एवं CEO के नाम ज्ञापन दिया गया. लोगों ने स्टेशन पर गाड़ियों का ठहराव दुबारा शुरू करने की मांग की है. धरना-प्रदर्शन नागरिक मंच एवं श्री बालाजी रेल संघ द्वारा आयोजित किया गया.

जानकारी के अनुसार झालावाड़ जिले के झालावाड़ रोड़ रेलवे स्टेशन वेस्ट सेन्ट्रल जोन के दिल्ली-मुम्बई रेलवे लाइन का स्टेशन है. स्टेशन के पास भानपूरा कस्बा सहित आसपास के 40 गावों के लोग स्टेशन से जयपुर, कोटा, मुंबई, दिल्ली भवानीमंडी, रामगजमंडी, रतलाम, इन्दौर रेलगाड़ी का इस्तेमाल कर जाते हैं.

गौरतलब है कि कोराना काल के समय रेल मंडल ने स्टेशन से गाडियों का ठहराव बन्द कर दिया था. जो वर्ष 2023 के दौरान भी स्टोरेज बहाल नहीं हुआ है. आम नागरिकों के हितार्थ सुविधाओं को बहाल करवाने के लिए आम नागरिकों ने नागरिक मंच एवं श्री बालाजी रेल संघ के तत्वावधान में धरना प्रदर्शन किया गया. उसके बाद रेल स्टेशन पर उपस्थित रेल अधिकारीयो को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एवं CEO को ज्ञापन दिया गया. लोगों ने कहा कि ट्रेनों के ठहराव से आने जाने में सुविधा होगी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ें: नेता प्रतिपक्ष कटारिया बोले- पेपर लीक प्रदेश का दुर्भाग्य, 50 लाख छात्रों को मिला धोखा

    ADVERTISEMENT